GSPG College
GSPG Thought ⇒ आ नो भद्राः क्रतवो यन्तु विश्वतः   ||   हमारी तरफ़ सब ओर से शुभ विचार आएँ   ||  LET NOBLE THOUGHT COME TO US FROM EVERY SIDE....RIGVEDA.                     आ नो भद्राः क्रतवो यन्तु विश्वतः   ||   हमारी तरफ़ सब ओर से शुभ विचार आएँ   ||  LET NOBLE THOUGHT COME TO US FROM EVERY SIDE....RIGVEDA.
सभी छात्र/छात्राओं को सूचित किया जाता है कि स्नातक/परास्नातक (संस्थागत) का प्रवेश फॉर्म ऑनलाइन करके महाविद्यालय में निर्धारित तिथि तक अवश्य जमा कर दे|   
स्नातक/परास्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश की अंतिम तिथि 25-09-2017 तक विस्तारित की जाती है|  
स्नातक/परास्नातक (संस्थागत) छात्रवृत्ति फॉर्म जमा करने की अंतिम तिथि 20-10-2017  
सत्र 2017-18, बी०पी०एड०(प्रथम वर्ष) प्रवेश प्रारम्भ   
Principal Message
महाविद्यालय व्यक्तित्व निर्माण का केंद्र होते है| व्यक्तित्व का निर्माण विचार एवं विवेक के जागृत हुए बिना असंभव है| महाविद्यालय के संस्थापक बाबू गनपत सहाय ने जिन पवित्र संकल्पनाओ के साथ महाविद्यालय की स्थापना की थी उसे अग्रसर करने एवं नवआयाम देने का गुरुतर कार्य स्व0 पंडित राम किशोर त्रिपाठी ने किया। यही कारण है की आज के इस औद्योगिकीकरण की अंधी दौड़ में भी हमारा महाविद्यालय एक शिक्षा उद्योग न बनकर शैक्षणिक क्षेत्र में निरंतर कीर्तिमान स्थापित कर रहा है| अनेक कुशल प्रशासक, उत्कृष्ट अध्यापक, वैज्ञानिक, चिकित्सक, समाजसेवी, जन प्रतिनिधि, हमारे महाविद्यालय की देन है|

कालचक्र ने महाविद्यालय को अनेक विषम परिस्थितियों में भी ला खड़ा किया, किन्तु महाविद्यालय की आन्तरिक शक्ति एवं मजबूत अन्तर्व्यवस्था ने पुन: दरिगुणित वेग से महाविद्यालय को सामान्य दशा में ले आने में पूर्ण सहयोग किया है| जिसका श्रेय मैं मुक्त कण्ठ से महाविद्यालत की प्रबन्ध समिति, सम्मानित शिक्षकों, कर्मठ कर्मचारियों एवं अनुशासित छात्र/छात्राओं को समवेत रूप से देना चाहता हूँ| हमारी हार्दिक शुभकामना है कि महाविद्यालय निर्बाध गति से प्रगति पथ पर अग्रसर रहे|
                                   शुभकामना सहित .......

डॉ0 तलअत हुसैन नकवी     
(प्राचार्य)